मेरी सांसो में जो समाया – फनी शायरी


मेरी सांसो में जो समाया बहुत लगता है,
वही शख्स मुझे पराया भी बहुत लगता है,
उनसे मिलने की तमन्ना तो बहुत है मगर,
आने-जाने में किराया ही बहुत लगता है।

इतने पड़े हैं डंडे – फनी शायरी


इतने पड़े हैं डंडे तेरी गली में,
अरमान हो गए ठन्डे तेरी गली में,
एक हाथ में है कंघी जुल्फे संवारते हैं,
गाड़ेंगे आशिकी के झंडे तेरी गली में।

तुझे पाने के लिये – फनी शायरी


तुझे पाने के लिये कुछ भी कर सकता हूँ,
तेरे प्यार मे जी तो क्या मर भी सकता हूँ,
फिर भी तू नही मिली तो मुझे कोई गम नही,
ये तरीका किसी दूसरी पर भी सेट कर सकता हूँ।