हम वो फूल हैं – दोस्ती शायरी


हम वो फूल हैं जो रोज़ रोज़ नहीं खिलते,
यह वो होंठ हैं जो कभी नहीं सिलते,
हम से बिछड़ोगे तो एहसास होगा तुम्हें,
हम वो दोस्त हैं जो रोज़ रोज़ नहीं मिलते।

दावे मोहब्बत के – दोस्ती शायरी


दावे मोहब्बत के मुझे नहीं आते यारो,
एक जान है जब दिल चाहे माँग लेना..।

सबसे अलग सबसे न्यारे – दोस्ती शायरी


सबसे अलग सबसे न्यारे हो आप,
तारीफ कभी पुरी ना हो इतने प्यारे हो आप।

लोग कहते हैं ज़मीं पर – दोस्ती शायरी


लोग कहते हैं ज़मीं पर किसी को खुदा नहीं मिलता,
शायद उन लोगों को दोस्त कोई तुम-सा नहीं मिलता ।

हम दोस्त बनाकर किसी को – दोस्ती शायरी


हम दोस्त बनाकर किसी को रुलाते नही,
दिल में बसाकर किसी को भुलाते नही,
हम तो दोस्त के लिए जान भी दे सकते हैं,
पर लोग सोचते हैं की हम दोस्ती निभाते नहीं।

दोस्त समझते हो तो – दोस्ती शायरी


दोस्त समझते हो तो दोस्ती निभाते रहना,
हमें भी याद करना खुद भी याद आते रहना,
हमारी तो हर ख़ुशी दोस्तों से ही है,
हम खुश रहें या ना आप यूँ ही मुस्कुराते रहना।

हर ख़ुशी से ख़ूबसूरत – दोस्ती शायरी


हर ख़ुशी से ख़ूबसूरत तेरी शाम कर दूँ ,
अपना प्यार और दोस्ती तेरे नाम कर दूँ ,
मिल जाये अगर दुबारा यह ज़िन्दगी दोस्त,
हर बार मैं ये ज़िन्दगी तुझ पर कुर्बान कर दूँ ।